Amit Shah: हिन्दू आतंकवाद है, सरकार की पुरानी राजनीति! चलाएंगे आंदोलन! कर्नाटक राज्य के सी ऍम सिद्धारमैया ने भाजपा को कट्टरपंथी कहा जिसके बाद पार्टी भड़क कर्नाटक सरकार पर भड़क गई है! पार्टी के प्रवक्ता, पात्रा ने कहा कि कांग्रेस पार्टी पहले भी हिंदू आतंकवाद के बारे में बात कर रही है और इस बार सिद्धारमैया ने इस परंपरा को बढ़ा दिया है!

Amit Shah-

राज्य के बीजेपी नेता शोभा करंदलज ने कल राज्य में जेल भरो आंदोलन की घोषणा की है! यह स्पष्ट है कि इस मुद्दे पर भाजपा बहुत आक्रामक हो गई है! कर्नाटक के चीफ मिनिस्टर ने बीजेपी, RSS और बजरंग दल को कट्टरपंथी तत्वों से भरा माना है! और हिंदुओं के विरोधी होने की बात की है!

Amit Shah speaks about Pak with enlightened citizens

इतना ही नहीं, सीएम सिद्धारमैया ने किसी के नाम पर अमित शाह का नाम बताते हुए कहा! कि अगर कोई भी पार्टी या इंसान कर्नाटक की शांति में बाधा डालेगा! उसे हमारी सरकार कभी नहीं छोड़ेगी! हम ऐसा करने वाले किसी को बर्दाश्त नहीं करेंगे, चाहे वह बजरंग दल या एसडीपीआई हो!

कर्नाटक कांग्रेस प्रमुख दिनेश गुंडु राव ने कहा कि दूसरी तरफ, अगर सरकार का सबूत है तो राजनीतिक संगठन पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) और एसडीपीआई और बजरंग दल जैसे कर्नाटक में संगठनों पर प्रतिबंध लगाने की जिम्मेदारी केंद्र सरकार की है! उन्हें प्रतिबंध होना चाहिए!

अमित शाह कहते हैं कि कांग्रेस वोट बैंक की राजनीति कर रही है-

जिसके बाद बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के कर्नाटक सरकार को हिंदू विरोधी बताने वाले बयान पर राज्य के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने तीखा तंज कसा है! BJP अध्यक्ष अमित शाह ने CM सिद्धारमैया को निशाना बनाया था! अमित शाह न कहा था कि मैं चीफ मिनिस्टर के सवालों का सही सही जवाब देने आया हूं!

और देखे-

पाक के नापाक इरादे, छाप रहा है नकली नए नोट!nefarious intrigue

judicial commotionएक चिट्ठी ने हिला डाली पूरी न्यायपालिका, मचा बवाल!

 

 

 

Summary
हिन्दू आतंकवाद है, सरकार की पुरानी राजनीति! चलाएंगे आंदोलन!
Article Name
हिन्दू आतंकवाद है, सरकार की पुरानी राजनीति! चलाएंगे आंदोलन!
Description
हिन्दू आतंकवाद है, सरकार की पुरानी राजनीति! चलाएंगे आंदोलन! कर्नाटक राज्य के सी ऍम सिद्धारमैया ने भाजपा को कट्टरपंथी कहा जिसके बाद पार्टी भड़क कर्नाटक सरकार पर भड़क गई है
Author
Publisher Name
India Virals
Publisher Logo

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here