इस अमावस्या पर ना गवाए मौका वरना पछताना ... - New Moon Undoubtedly work
अजब-गजब

इस अमावस्या पर ना गवाए मौका वरना पछताना पड़ेगा ज़िंदगी भर …

New Moon Undoubtedly work

New Moon Undoubtedly work: हमारे जीवन में घटित होने वाली सारी घटनाओं का मुख्‍य कारण गृहों (House moment) की चाल से संबंधित होता है, क्‍योंकि गृह अपनी चाल से राशियों (Zodiac) को प्रभावित करते है, और जो व्‍यक्ति जिस राशि से संबंधित होता है, उसी के आधार उसके जीवन में बदलाव आने लगते है।

New Moon Undoubtedly work-

इसके अतरिक्‍त हिन्‍दु पंचाग (Hindu Panchang) में हर माह एक अमावस्‍या (New moon) आती है, रात्रि में जब पूर्ण अंधकार होता है, तो यह रात पूर्णिमा (full moon) के रात के विपरीत होती है, आपकी जानकारी के लिये बता दे कि ज्योतिष शास्‍त्र (astrology system) व तंत्र शास्त्र में इस संबंध में सविस्‍तार बताया गया है, इसके अनुसार अमावस्या के दिन किये गए उपाय त्‍वारित फलदायक होते है, इस दिन आप रूठे हुए ग्रह (8 Houses) और पित्रों को भी आसानी से मना सकते है।

ऐसा सभी लोगो की मान्‍यता है। आज हम आपको इस दिन होने वाले उपायों के संबंध (Relation) में बताने वाले है जिसके उपयोग आपके लिये काफी हद तक लाभकारी सिद्ध होगें आज हम आपको एक ऐसा उपाय (Solution) बताने वाले है जिसका प्रयोग करके आप अपनी जिन्दगी सवार सकते है!

आपको बता दे आज हम जो आपको उपाय (Treatment) बताने वाले है उसको करने से आपके सभी काम पूरे हो जायेंगे आपको बता दे इस दिन गंगा स्नान (Ganga Bath) करने से आप के पाप धुल जाते हैं । लेकिन जो लोग गंगा स्नान नहीं कर सकते हैं वह कहीं भी स्नान करके शिव-पार्वती (Shiv-parvati) और तुलसी की पूजा करें ,यह काफी लाभकारी होता है।

इसके अलावा जो आज के दिन पूजा होती है जल्दी सुनी जाती है और आज के दिन ही कई तांत्रिक (Tantrik) उपाय किए जाते हैं । अगर आप आज के दिन ये उपाय (Solution) करेंगे तो आपकी सालों से सोई हुई किस्मत जाग जाएगी आपकी सभी मनोकामनाओं (Wishes) को पूरी कर देगी ।आपके जीवन में चल रही परेशानियों (Problems) से आपको आजादी मिल जाएगी!

और देखे – भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव के घर मातम, पढ़ें..

Click to comment

Leave a Reply

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

To Top
// Infinite Scroll $('.infinite-content').infinitescroll({ navSelector: ".nav-links", nextSelector: ".nav-links a:first", itemSelector: ".infinite-post", loading: { msgText: "Loading more posts...", finishedMsg: "Sorry, no more posts" }, errorCallback: function(){ $(".inf-more-but").css("display", "none") } }); $(window).unbind('.infscr'); $(".inf-more-but").click(function(){ $('.infinite-content').infinitescroll('retrieve'); return false; }); $(window).load(function(){ if ($('.nav-links a').length) { $('.inf-more-but').css('display','inline-block'); } else { $('.inf-more-but').css('display','none'); } }); $(window).load(function() { // The slider being synced must be initialized first $('.post-gallery-bot').flexslider({ animation: "slide", controlNav: false, animationLoop: true, slideshow: false, itemWidth: 80, itemMargin: 10, asNavFor: '.post-gallery-top' }); $('.post-gallery-top').flexslider({ animation: "fade", controlNav: false, animationLoop: true, slideshow: false, prevText: "<", nextText: ">", sync: ".post-gallery-bot" }); }); });