Home खास खबर होली पर जवान लौट रहा था अपने घर, हो गया बड़ा हादसा...

होली पर जवान लौट रहा था अपने घर, हो गया बड़ा हादसा सदमे में पूरा परिवार

0
10
jwan return home holi tragedy

jwan return home holi tragedy: जैसा कि आप सभी जानते ही है कि पाकिस्तान लगातार सीमा का उलंघन कर रहा है. वह लगातार नियमो को तोड़ता जा रहा है और भारतीय सेना पर हमला कर रहा है. बीते दिन हुई पाकिस्तान की तरफ से गोलाबारी में पंजाब के जवान कर्मजीत शहीद हो गए है. कर्मजीत की छुटियाँ 16 मार्च से पड़ने वाली थी लेकिन किसी कारणवश उनकी छुटियाँ रद्द हो गयी और उन्हें 20 मार्च को घर वापिस आना था. पूरा परिवार बहुत खुश था कि उनका बेटा होली पर घर आ रहा है. आप की जानकारी के लिए बता दे की, लेकिन किस्मत को कुछ और ही मंजूर था. सोमवार की सुबह ही जब पाकिस्तान ने सीमा का उलंघन करते हुए गोलाबारी की तो कर्मजीत उसमे शहीद हो गए. कर्मजीत की शहादत की खबर उनके पिता कुलवंत ने अपनी पत्नी से छिपाई थी.

jwan return home holi tragedy –

लेकिन जब उनकी पत्नी ने गाँव वालो की आँखे नाम देखी तो वे सब समझ गयी.आपकी जानकारी के लिए बता दें कि कर्मजीत का जन्म 15 नवंबर 1994 को पंजाब में हुआ था. आज से ठीक 4 साल पहले जम्मू में सेना में भर्ती हुआ था. कर्मजीत के पिता भी सेना में सिपाही थे और वे 1996 में रिटायर्ड हो चुके थे. सेना में भर्ती होने से पहले कर्मजीत कबड्डी के अच्छे खिलाड़ी थे. कर्मजीत का सपना था कि वे भी पिता की तरह की देश की सेवा करे और अपने माँ बाप का नाम रौशन करे. इसलिए वे सेना में भर्ती होने के लिए चले गए. लेकिन जिस समय कर्मजीत कबड्डी खेला करते थे तो उन्होंने हाथ पर अपने नाम का टैटू बनाया था और इसी टैटू की वजह से उन्हें सेना से रिजेक्ट कर दिया गया. बाद में कर्मजीत ने उस टैटू को तेज़ाब से निकाल दिया इसके बाद वे सेना में भर्ती हो गए.

आपकी जानकरी के लिए बता दें कि शहीद के पिता ने बताया कि उनका बेटा एक बहादुर सिपाही था और वह 16 मार्च को घर आने वाला था लेकिन किसी वश से उनकी छुटियाँ आगे कर दी. इसके बाद उसे 20 मार्च को घर आना था पूरा परिवार उसके आने की ख़ुशी से बहुत खुश था लेकिन बेटे के घर आने से पहले उसके शहीद होने की खबर आ गयी. बेटे के शहीद होने की खबर सुनकर पूरा परिवार बिखर गया. ये बात तो आप सभी जानते ही है कि जब किसी माँ का बेटा शहीद होता है तो उसके दिल पर क्या गुजरती है ये सिर्फ एक माँ ही जान सकती है.

बीते हमले में जितने भी जवान शहीद हुए है उन सबसे माता पिता अभी भी आंसू बहा रहे है. एक माँ के किए उसका बेटा सबकुछ होता है जब उसके बच्चे को चोट भी लग जाती है तो उसकी हालत खराब ही जाती है यहाँ तो एक माँ ने अपने बेटे को खो दिया है. आप की जानकारी के लिए बता दे की, एक बेटा अपने पिता की मौत के बाद उसकी लाश को कंधा देता है और अग्नि देता है लेकिन जरा सोचिये उस बाप पर क्या बीत रही होगी जिसका जवान बेटा शहीद हो गया है. कर्मजीत अभी सिर्फ 24 साल के ही थे उनकी शादी भी नही हुई थी उन्होंने तो अभी अपनी जिन्दगी सही ढंग से जी भी नही थी. वे तो होली का त्यौहार मनाने अपने परिवार के पास आना चाहते थे.

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here