Home खास खबर इतिहास में पहली बार एक साथ आए भारत-पाकिस्तान के सैनिक, चीन ने...

इतिहास में पहली बार एक साथ आए भारत-पाकिस्तान के सैनिक, चीन ने कहा…

0
157
Peaceful Mission 2018 IND PAK Together

Peaceful Mission 2018 IND PAK Together: यह सुनकर आपको भले ही हैरानी हो रही होगी, लेकिन यह सच है। जी हाँ रूस में शंघाई सहयोग संगठन (SCO) के 8 देशों का आतंक निरोधी Military अभ्यास चल रहा है। इसमें IND-PAK के साथ ही अन्य देशों के 3000 सैनिक भाग ले रहे हैं। आपको जानकर हैरानी होगी कि यह पहली बार है जब IND-PAK के सैनिक SCO में एक साथ हिस्सा ले रहे हैं। India और Pakistan के एक साथ आने से लोगों को उम्मीद बढ़ गयी है कि दोनो देश आने वाले समय में दोस्त बन सकते हैं। आज हम आपको इसके बारे में Details से बताने जा रहे हैं।

Peaceful Mission 2018 IND PAK Together-

सबसे ज्यादा रूसी सैनिकों ने लिया है हिस्सा:


जानकारी के अनुसार इस अभ्यास में Russia के सबसे ज़्यादा सैनिक हैं। इस Practice में Russia के 1700 सैनिकों ने हिस्सा लिया है, जबकि China के 700 सैनिकों ने और India के 200 सैनिक हिस्सा ले रहे हैं। इन देशों के अलावा कजाख़स्तान, ताजिकिस्तान, किर्गिस्तान, उज़बेकिस्तान के जवान भी शामिल हुए हैं। बीजिंग स्थित शंघाई सहयोग संगठन (SCO) के आतंकी निरोधी अभ्यास Russia के चेल्याबिंक्स के चेबारकुल शहर में 22 August से शुरू हो चुका है। बताया जा रहा है कि यह अभ्यास आने वाले 29 August तक चलेगा।

इस सहयोग संगठन (SCO) का मुख्य उद्देश्य Terrorism और कट्टरपंथ के बढ़ते ख़तरे से निपटने के लिए सदस्य देशों के बीच सहयोग बढ़ाना है। यह बात किसी से छुपी हुई नहीं है कि आज किस तरह से Terrorism और कट्टरपंथ दुनिया में तेज़ी से अपने पैर पसार रहा है। आए दिन Terrorist लोगों की बेरहमी से जान लेते हुए दिखते हैं। Terror की वजह से आज पूरी दुनिया परेशान हैं। इससे निपटने के लिए अब पूरी दुनिया एक साथ आ रही है। आतंक का गढ़ कहे जानें वाला Pakistan सबसे ज़्यादा आतंकी घटनाओं का शिकार होता है।

IND-PAK के बीच बढ़ सकती हैं नज़दीकियाँ:


यही वजह है कि PAK की नयी सरकार ने Terrorist को जड़ से मिटाने के लिए हर सम्भव कोशिश कर रही है। जून 2017 में SCO के पूर्णकालिक सदस्य बनाने के बाद IND और PAK इस अभ्यास में पहली बार हिस्सा ले रहे हैं। इससे पहले IND और PAK इस संगठन के सदस्य नहीं थे। इस अभ्यस का नाम ‘Peaceful Mission 2018’ रखा गया है। इसका आयोजन रूस के Central Military Commission ने किया है। उम्मीद की जा रही है कि इस अभियान के बाद IND और PAK के बीच नज़दीकियाँ बढ़ सकती है। हालाँकि आगे क्या होगा, इसके बारे म कुछ नहीं कहा जा सकता है।

South Asia के लिए महत्वपूर्ण हैं दोनो देश:


IND और PAK की सेनाओंके पहली बार शामिल होने का चीन ने ज़ोरदार स्वागत किया है। China ने उम्मीद जताई है कि दोनो देश क्षेत्रीय शांति और स्थिरता को बनाए रखने के लिए द्विपक्षीय स्तर और बहुपक्षीय प्रणालियों में वार्ता और सहयोग को बढ़ा सकते हैं। China के प्रवक्ता ने IND-PAK के इस अभ्यास में शामिल होने पर कहा कि South Asia के लिए दोनो ही देश बहुत महत्वपूर्ण हैं। दोनो के बीच बेहतर Relation पूरी दुनिया की Peace और Develop के लिए ज़रूरी है। कुछ दिनों पहले ही China ने कहा था कि वह दोनो देशों के Relations को सुधारने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाना चाहता है।

और देखें – ये 5 जुगाड़ देखकर अपनी आँखों पर विश्वास नहीं होगा कि ये भारतीयों ने बनाये है

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here