Home खास खबर पिता लगाते हैं झाड़ू गरीबी देखी बड़ी नजदीक से, बेटी ने किया...

पिता लगाते हैं झाड़ू गरीबी देखी बड़ी नजदीक से, बेटी ने किया पिता का सर गर्व से ऊंचा, बन गई…

0
26
sweeper daughter become daroga

sweeper daughter become daroga: आपने सुना ही होगा मेहनत करने वालों की कभी हार नहीं होती! ऐसा ही दृश्य कुछ आज हम आपको बताने जा रहे हैं! मेहनत एक ऐसी कुंजी है जो आपको नीचे से ऊपर तक उठा सकती है बिना मेहनत किए तो हाल ही में रखी रोटी भी नहीं खाई जाती! मेहनत से आप किसी भी सुख को पा सकते हो! ऐसा ही बाकी है एक लड़की ने करके दिखाया है! पिता रेलवे स्टेशन पर झाड़ू लगाते हैं लेकिन बेटियों की मेहनत रंग लाई!

sweeper daughter become daroga –

इस लड़की ने अपने साथ हुई समस्याओं से कभी समझौता नहीं किया बल्कि उसका डटकर सामना किया और आखिर में सफल हुई! इसलिए मेहनत करना बड़ा ही महत्वपूर्ण है बिना मेहनत के आप कोई भी चीज पॉसिबल नहीं बना सकते! मेहनत से तो इंपॉसिबल चीज भी पॉसिबल बन जाती है! इस लड़की की कड़ी मेहनत के कारण आज इस लड़की के पिता दरोगा के पिता कहे जाएंगे! कभी अपनी गरीबी से मजबूर थी लड़की इसकी मेहनत ने इसे बनाया दरोगा तो आइए जानते हैं इन के बारे में!

आपको बता दें कि यह मामला बिहार से है! लड़की के पिता सुबोध मेहता बिहार के पूर्णिया जिले में सफाई कर्मचारी का काम करते हैं! आजकल सुबोध मेहता और उसकी बेटी की चर्चा पूरी कॉलोनी में है! क्योंकि अब उसकी लड़की दरोगा की वर्दी पहनेगी! लड़की ने बड़े परिश्रम से पुलिस का एग्जाम क्लियर किया! आपको बता दें कि इस लड़के का नाम पुष्पा है! इनकी माता गंगा देवी घर चलाती है और इनके पिता सुबोध जी बिहार के पूर्णिया जंक्शन पर सफाई कर्मी है!

पुष्पा का अगला टारगेट

पुष्पा के घर की स्थिति ऐसी नहीं थी कि वह आगे पढ़ाई कर सकें! लेकिन उसकी मेहनत रंग लाई उसे कड़ी मेहनत की और सफलता प्राप्त की! सफलता प्राप्त करने के बाद पुष्पा ने अपना अगला टारगेट भी तय कर लिया है! पुष्पा ने मीडिया को बताया कि मेरे पिता सफाई कर्मचारी है! थोड़ी सी प्रॉब्लम और कम सैलरी के होते हुए भी मेरे पिता ने हमेशा मेरा साथ दिया! मेरा आगे का टारगेट बीपीएससी की परीक्षा को क्लियर करना है!

इसके साथ ही पुष्पा की मां गंगा देवी ने कहा कि हमने कभी अपने बेटे बेटियों के बीच भेदभाव नहीं रखा है! और आज मुझे करो है कि मेरी बेटी ने मेरा नाम रोशन किया है! पुष्पा ने सन 2009 में अपनी तस्वीर पूरी की थी और सन 2015 में ग्रेजुएट हुई! पुष्पा के पिता सुबोध अपनी बेटी की सफलता को देख कर काफी खुश हैं! और साथ ही उनके साथी जो सफाई कर्मचारी है! वह भी इनकी बेटी की सफलता को देखकर ज्यादा खुश है! पुष्पा के पिता सुबोध मेहता ने अपनी खुशी पूरे पूर्णिया जंक्शन में मिठाई बांट के जाहिर की!

तो दोस्तों जाहिर होता है मेहनत कभी खाली नहीं जाती अगर आप पूरे लगन से मेहनत करें तो आपको सफलता जरूर मिलती है!

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here