गृहमंत्री अमित शाह ने संसद में बताया क्या होगा मोदी सरकार का अगला कदम, नागरिकता संशोधन बिल के बाद

What will be the next step of the Modi government after the citizenship amendment bill: आज देश में एक नया इतिहास रचा जाएगा यह जब होगा तब दोपहर 2 बजे नागरिकता संशोधन बिल (CAB) संसद के पटल पर पेश किया जाएगा! लोकसभा के बाद अब राज्यसभा में इतिहास रचने का समय आ गया है! लोकसभा में नागरिकता संशोधन बिल जिस बहुमत के साथ पास हुआ है उससे तो यही उम्मीद लगाई जा रही है! इसकी राज्यसभा में भी कोई रुकावट नहीं आएगी! दरअसल, इस बिल के पास होते ही जो लोग बांग्लादेश, पाकिस्तान और अफगानिस्तान से भारत की शरण में आए हैं! चाहे वह हिंदू, बौद्ध, सिख, इसाई और पारसी ही क्यों ना हो! सभी के लिए भारतीय नागरिक का रास्ता साफ हो जाएगा!

मोदी सरकार का अगला कदम

भारतीय नागरिकता संशोधन बिल (Citizenship Amendment Bill) इसकी बात तो हो गई परंतु इस बिल के पास होने के बाद मोदी सरकार का अगला कदम क्या होगा? जी हां इसके बारे में भी गृह मंत्री अमित शाह ने बता दिया है! अमित शाह ने चर्चा करते हुए साफ कह दिया था! कि मोदी सरकार अब देश में एनआरसी लेकर आएगी और जब नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटीजन की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी तो उसके बाद एक भी अवैध घुसपैठया नहीं रहेगा! यानी देश के गृहमंत्री अमित शाह ने साफ कहा था कि नागरिकता संशोधन बिल नहीं रुकेगा और इसके बाद देश में एनआरसी भी लागू किया जाएगा!

1900000 लोगों का नाम नहीं

जानकारी के लिए बता दे इस समय एनआरसी की प्रक्रिया भारत के असम राज्य में चल रही है! इस कार्यवाही के तहत असम राज्य में अब तक 1900000 लोगों का नाम एनआरसी रजिस्टर में नहीं आया है! जिनका नाम नहीं आया ऐसे लोगों के लिए असम राज्य में डिटेंशन सेंटर बनाया जा रहा है! नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटीजन (NRC) वह प्रक्रिया है जिसके तहत अवैध घुसपैठियों की पहचान करने की कोशिश की जाए! देश के गृहमंत्री ने दावा किया है कि अवैध लोगों को देश से बाहर निकाल देंगे!

विपक्ष भ्रम फैला रहा

नागरिकता संशोधन बिल (Citizenship Amendment Bill) पर विपक्ष सवाल उठा रहा था जिसके जवाब में अमित शाह ने कहा कि इस बिल से भारत में रह रहे मुसलमानों को किसी भी तरह से डरने की जरूरत नहीं है! क्योंकि इस बिल का मुसलमान नागरिक से कोई लेना-देना नहीं है! अमीषा का कहना है कि विपक्षी पार्टी इस बिल को लेकर भ्रम फैला रही है! इतना ही नहीं बल्कि अमित शाह ने कहा कि देश में शरणार्थियों को भी डरने की जरूरत नहीं है क्योंकि शरणार्थी और घुसपैठियों में अंतर होता है!

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Show Buttons
Hide Buttons