Current electric train come: इलैक्ट्रिक ट्रेन में करेंट Over Head Traction Wire के द्वारा आता है। इस Traction Wire को रेलवे ट्रैक के किनारे हर 65–70 मीटर पर एक ओ. एच. ई. मास्ट (OHE – Over Head Equipment Mast) लगाकर उसके सहारे इंस्टॉल किया जाता है। Mast का मतलब बिजली का खम्भा ही है। नीचे चित्र में देखिये Traction Distribution management System (TDMS) कैसा होता है।

Current electric train come –

इस System में दो तार चलते हैं, जो लाल रंग से दिखाये गये हैं। ऊपर वाला Multi stranded Copper Wire होता है जिसे कैटिनरी वायर कहते हैं। इसमें सैग होता है। इसके नीचे एक Hard-drawn Copper Cadmium सिंगल ग्रूव्ड वायर होता है इसे कानटेक्ट वायर कहते हैं। इस कानटेक्ट वायर का सैग Centenary wire से Dropper वायर से सपोर्ट देकर समाप्त किया जाता है। इस प्रकार Contact Wire वायर हमेशा सीधा होता है।

बस इसी कानटेक्ट वायर से रेल Electric Engine अपने पैन्टोग्राफ के द्वारा विद्युत प्राप्त करता है। इस कानटेक्ट वायर में 25,000 Volt की विद्युत होती है। एंजिन का panto-graph कैसा होता है, देखिये नीचे चित्र में:—

Panto-graph एंजिन की छत के ऊपर फिट होता है और ईस को कम्प्रेशर के द्वारा ऊपर उठाया जाता है ताकि वो कानटेक्ट वायर के टच में आये और एंजिन को विद्युत मिलना शुरु हो। बस यही प्रक्रिया है एंजिन को करेंट मिलने की।

सबसे ऊपर के चित्र में जो हरा कैटिनरी वायर है वह Return Wire है। प्रत्येक Mast को Mild Iron की 40 mm चौड़ी और 5 mm मोटी स्ट्रिप से ट्रैक की रेल से जोड़ा जाता है और रेलों को एक निश्चित दूरी के बाद अर्थिंग की जाती है। इस प्रकार रेलें Earth Return का काम करती हैं। इस Traction Wire को बिजली राज्य सरकारों के बिजली विभाग से सीधे ग्रिड से मिलती है, जो कभी भी कटती नहीं है, जब तक कि कोई बहुत बड़ा Breakdown न हो जाये। रेलवे अपने फीडिंग सब स्टेशन बनाती है।

इस सारे सिस्टम को सम्हालने के लिए रेलवे में इलैक्ट्रीकल विभाग होता है। उसमें भी 4 सब सैक्शन होते हैं:—

  • इलैक्ट्रीकल ट्रेक्शन (OHE या TRD) ये विभाग ऊपर बताया गया काम करता है।
  • इलैक्ट्रीकल टी. आर. एस. (TRS – Traction Rolling Stock) इस विभाग में इलैक्ट्रिक एंजिन और ई. एम. यू. का मेन्टेनेंस होता है।
  • इलैक्ट्रीकल टी. आर. ओ. (TRO – Train Operations) इस विभाग से एंजिनों के मूवमेंट का कन्ट्रौल किया जाता है। लोकोपायलट भी इसी विभाग के अधिकारियों द्वारा कन्ट्रौल किये जाते हैं।
  • इलैक्ट्रीकल जनरल (General) इस विभाग में स्टेशन, आँफिस और रेलवे क्वार्टर की सामान्य बिजली व्यवस्था को देखना होता है।

इस प्रकार एक डिवीजन में इलैक्ट्रीकल विभाग के 4 वरिष्ठ प्रशासनिक ग्रेड ( Junior Administrative Grade) के अधिकारी (इंजीनियर) होते हैं। ये तो मेन्टेनेंस विंग में हुए। नया Installation construction wing करती है, वहाँ फिर 4 अधिकारी होते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here