मेरठ : दरोगा-महिला पर जानलेवा हमले का मुकदमा दर्ज, बड़े अधिकारियों पर गिर सकती है गाज, तस्वीरें

0
76
Meerut Droga Pitai Mamla

Meerut Droga Pitai Mamla: दरोगा मामला, मेरठ में होटल ब्लैक पेपर प्रकरण में नया मोड़ आ गया! होटल ब्लैक पेपर मालिक (भाजपा पार्षद) के खिलाफ डकैती और अन्य धाराओं में केस दर्ज कराने के वाले दरोगा और महिला के खिलाफ घटना के 11वें दिन जानलेवा हमला समेत कई धाराओं में केस दर्ज हो गया है! कैबिनेट मंत्री और जनपद के प्रभारी मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह के कड़े रुख के चलते यह मुकदमा लिखा गया! आपको बता दे कि इसी के साथ दरोगा के खिलाफ विभागीय जांच भी शुरू हो गई है! दरोगा को सस्पेंड करने की तैयारी भी चल रही है!

Meerut Droga Pitai Mamla –

https://spiderimg.amarujala.com/assets/images/2018/10/21/750×506/meerut-news_1540101661.jpeg

होटल ब्लैक पेपर में 19 अक्तूबर को हुए बखेड़े के बाद दरोगा सुखपाल पंवार और दरोगा के साथ रही महिला ने मनीष पंवार होटल मालिक के खिलाफ संगीन धाराओं में अलग-अलग मुकदमा दर्ज कराया था! इस चर्चित प्रकरण में (भाजपा पार्षद) मनीष पंवार द्वारा दरोगा को एक के बाद एक पांच थप्पड़ मारने का वीडियो खूब वायरल हुआ तो पुलिस एक्शन में आ गई और मनीष को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया! लेकिन बाद में होटल में लगे CCTV कैमरों की वीडियो फुटेज वायरल होना शुरू हुई तो इनमें दरोगा और महिला के दावों की पोल खुलनी शुरू हो गई! गरमाय हुए भाजपाइयों और व्यापारियों ने भी पुलिस पर एकतरफा कार्रवाई का आरोप लगाकर जबरदस्त आक्रोश जताते हुए मेरठ बंद का ऐलान कर दिया था! मामला भाजपा के प्रदेश नेतृत्व तक पहुंचा! लेकिन पुलिस अधिकारी दरोगा के खिलाफ कार्रवाई करने को तैयार नहीं थे, ये वीडियो वायरल होने के बावजूद भी !

https://spiderimg.amarujala.com/assets/images/2018/10/20/750×506/meerut-news_1540016535.jpeg

उधर, यह मामला थाना कंकरखेड़ा से संबंधित था भाजपाइयों और व्यापारियों में इस बात को लेकर भी रोष है! वारदात के बाद होटल मालिक को थाना कंकरखेड़ा में रखा गया था! लेकिन आरोप है कि इंस्पेक्टर परतापुर ने थाना कंकरखेड़ा पहुंचकर होटल मालिक की बुरी तरह पिटाई की! भाजपाइयों और व्यापारियों में इंस्पेक्टर के खिलाफ भी गुस्सा बना है!

https://spiderimg.amarujala.com/assets/images/2018/10/25/750×506/meerut-news_1540454773.jpeg

रविवार को मेरठ में इस मामले को लेकर प्रभारी मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह व कैबिनेट से भाजपाइयों और संयुक्त व्यापार संघ के पदाधिकारियों ने कड़ी नाराजगी जताई थी! वही प्रभारी मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने आश्वासन दिया था कि सोमवार को इस प्रकरण में दरोगा और महिला के खिलाफ मुकदमा दर्ज हो जाएगा! कंकरखेड़ा थाने में सोमवार को दरोगा और महिला के खिलाफ जानलेवा हमला, मारपीट, गाली गलौज, धमकी देने और तोड़फोड़ की धारा में केस दर्ज हो गया! दरोगा पिटाई मामले में पुलिस अधिकारियों पर भी गाज गिर सकती है, क्योंकि पुलिस पर एकतरफा कार्रवाई के आरोप लगे हैं!

रणविजय सिंह, एसपी सिटी ने बताया है कि इस मामले में विभागीय जांच बैठा दी गई है! पहले से एक जांच चल रही है! दरोगा सुखपाल पंवार के खिलाफ विभागीय कार्रवाई होनी तय है! ससपेंड की कार्रवाई भी जल्द हो सकती है!

याद आया कानून जब दबाव पड़ा तो

होटल मालिक के तरफ से घटना के बाद मैनेजर संजीव धामा ने तहरीर दी थी! कंकरखेड़ा पुलिस 11 दिन से इस तहरीर को दबाकर बैठी रही! कैबिनेट मंत्री ने माना कि पुलिस ने इस मामले में एकतरफा कार्रवाई की है, तब जाकर पुलिस को कानून याद आया! उसी तहरीर पर पुलिस ने मुकदमा पंजीकृत किया है!

https://spiderimg.amarujala.com/assets/images/2018/10/24/750×506/meerut-news_1540400698.jpeg

दरोगा व महिला के खिलाफ मुकदमा कंकरखेड़ा थाने में होटल मैनेजर की शिकायत पर दर्ज कराया गया है! इस मामले की गंभीरता से जांच कराई जा रही है! उसके खिलाफ कार्रवाई होगी, जो भी दोषी होगा! होटल में लगे कैमरे की डीवीआर भी मांगी गई है! – अखिलेश कुमार, SSP

सुनवाई 31 अक्तूबर को डकैती की धारा हटाने पर

स्पेशल सीजेएम के न्यायालय में सोमवार को दरोगा-पार्षद प्रकरण में आरोपी पार्षद के विरुद्ध दर्ज मामलों में डकैती की धारा हटाए जाने पर सोमवार को सुनवाई नहीं हो सकी! अदालत ने अगली तिथि 31 अक्तूबर की तारीख सीजेएम के अवकाश पर होने के कारण नियत की है!

https://spiderimg.amarujala.com/assets/images/2018/10/25/750×506/meerut-news_1540451813.jpeg

दरोगा व महिला अधिवक्ता द्वारा दर्ज कराए गए मुकदमों में धारा 395 (डकैती की धारा) हटाने के संबंध में सोमवार को सुनवाई होनी थी, अभियोजन अधिकारी सीपीएम त्रिपाठी व संजय कुमार सुमन ने बताया! जिसमें सीजेएम अभय प्रकाश नारायण के अवकाश पर होने के कारण इस मामले को स्पेशल सीजेएम राम लाल की अदालत में प्रभारी सीजेएम के रूप में पेश किया गया! जहां पर अदालत को बताया कि इस मामले में सुनवाई सीजेएम के यहां विचाराधीन है और सुनवाई विचाराधीन होने के कारण प्रभारी सीजेएम राम लाल ने आगे की सुनवाई करने के लिए 31 अक्तूबर की तिथि नियत कर दी है! अदालत में सभी पक्ष उपस्थित रहे थे!

और देखें – राफेल पर खुलासा: यूपीए के मुकाबले मोदी सरकार ने की बहुत सस्ती डील …

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here