Home न्यूज़ नंबर वन बन गया ये मुस्लिम देश, वो भी गाय के आशिर्वाद...

नंबर वन बन गया ये मुस्लिम देश, वो भी गाय के आशिर्वाद से …

0
135
Dairy Industry Build

Dairy Industry Build: नंबर वन बन गया ये मुस्लिम देश, वो भी गाय के आशिर्वाद से … हाल ही में हर किसी देश ने जोकि खाड़ी देश के नाम से प्रसिद्द है उन्होंने अपने पड़ोसी देश क़तर से सारे रिश्ते तोड़ दिए थे! इसका प्रमुख कारण था कि क़तर ईरान से रिश्ता बढ़ा रहा है! और इसी रिश्ते के चलते सभी खाड़ी देशो ने क़तर के साथ रिश्ता तोड़ने की थान ली! उन्होंने सोचा उसके मिलने वाला माल बंद कर दे तो अपनेआप ही अकल ठीखाने आ जाएँगी! और वो हर किसी चीज़ के लिए तरस जाएगा! और खाड़ी देशो के सामने घुटने टेक देगा! परन्तु इसका तो बिलकुल ही उल्टा हो गया!

Dairy Industry Build-

दरअसल इसका का इनाम ही क़तर के लिए तरक्की लेकर आ आयी है! अगर पहले के मुकाबले अब क़तर की बात करे तो पहले से ज्यादा मजबूत हो गया है! और खुद पर आत्मनिर्भर हो गया है! यहाँ तक इस देश की हालात कुछ ऐसे थे कि एक डेरी भी ना थी! ये हालात आ गए थे कि सऊदी से मिलने वाले की सऊदी ने सप्लाई बंद कर दी! उसके बाद क़तर में गायो के लिए ऐरकण्डीशनर बाड़े खुल गए! जहाँ उन्हें मशीन लगा दी दूध निकालने की! अब जो फोटो हम आपको दिखाने जा रहे है वो क़तर के ब्लाडना फार्म की है! जहाँ पर लगभग इस समय दस हजार गायो का बसेरा है! इनमे अलग अलग तरह की नस्ल की गायो को रखा गया है!

खाड़ी संकट शुरु होने की वजह से पड़ोसी देशों ने सबसे पहले जरुरी सामानों की सप्लाई रोक दी थी! इसके पीछे का कारण कतर को झुकाना था! कतर दूध के मामले में पड़ोसी देश सऊदी अरब पर निर्भर था लेकिन सऊदी ने उसकी सप्लाई भी बंद कर दी! कुछ दिनों के संकट के बाद कतर ने इसका भी उपाय निकाल लिया! महीने भर बाद ही कतर एयरवेज की फ्लाइट के जरिए गायों की पहली खेप यहां लाई गई!

बलडाना फार्म के मैनेजर पीटर वेल्टेव्रेडेन ने बताया! कि सबने कहा था! कि ये सब कर पाना नामुमकिन है लेकिन हमने कर दिखाया! हम वादे के मुताबिक, कतर संकट शुरू होने के एक साल के अंदर ताजे दूध के मामले में आत्मनिर्भर हो गए! बता दें, पिछले साल जून में ही कतर से सऊदी अरब, UAE, बहरीन और मिस्र ने सभी कूटनीतिक, व्यापारिक और ट्रांसपोर्ट लिंक तोड़ लिए थे!

और देखें – पीएम मोदी का बहुत करीबी है, ऑपरेशन ब्लू स्टार का जाबाज योद्धा …

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here