Ayodhya Dheram sabha: उत्तरप्रदेश में अयोध्या सियासी दावपेच का एक बार फिर से अखाड़ा बन गया है! रामनगरी अयोध्या में शनिवार से शिवसेना प्रमुख डेरा डाले हुए है! विश्व हिन्दू परिषद द्वारा राम मंदिर के निर्माण को लेका सरकार पर दबाव बनाने के लिए रविवार को रामनगरी में धर्म सभा का आयोजन किया जा रहा है! आपको बता दे सभा आज लेकिन कल से मोर्च संभालने के लिए साधु-संतो और रामभक्तो के आने का सिलसिला जारी है! इतनी बड़ी तादात को देखते हुए सुरक्षा के कड़े इंतज़ाम भी किये जा चुके है,ताकि कोई असामान्य घटनाये न घट सके!

Ayodhya Dheram sabha –

आरएसएस, बजरंग दाल और वीएचपी के हजारो की संख्या में कार्यकर्ता देश भर से रामनगरी पहुंच रहे है! आज सुबह होने वाली सभा में हिस्सा लेने के लिए कारसेवकपुरम के बड़े भक्तमल की बगिया में इक्कट्ठे हो रहे है! आपको बता दे ढेरम सभा सुबह 11 बजे से होनी है! आश्चर्ये की बात तो ये है आज की सभा में वीएचपी और अरसा के 1-1 लाख कार्यकर्ता शामिल होंगे और वही बजरंग दाल के भी 10000 कार्यकर्ता रामनगरी पहुंच रहे है!

वीएचपी की धर्म सभा से पहले शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने सुबह साढ़े 9 बजे के लगभह रामलला के दर्शन किए! दर्शन कर वे सीधे होटल लौट गए! धर्मसभा से पहले अयोध्या में सुरक्षा के चाक चौबंद बढ़ा दिए गए हैं!

सुरेंद्र जैन के मुताबिक आरएसएस और वीएचपी के प्रतिनिधि रविवार को होने वाली धर्म सभा के बाद  सभी दलों के नेताओं से मुलाकात करना शुरू करेंगे और राम मंदिर पर कानून लाने के लिए समर्थन मांगेंगे! राम मंदिर निर्माण के लिए प्रयाग में 31 जनवरी और 1 फरवरी को होने वाली धर्म सभा के समापन के बाद सभी शहरों के मंदिरों में प्रार्थना और यज्ञ का आयोजन होगा!

उत्तर प्रदेश प्रशासन द्वारा बहुस्तरीय सुरक्षा की व्यवस्था की गई! जब बड़ी संख्या में साधु-संतों और लाखों कार्यकर्ताओं के अयोध्या पहुंचने लगे! सुरक्ष को मद्देनजर रखते हुए जिसमें 70 हजार पुलिस जवान तैनात किए गए हैं!

6 दिसंबर 1992, बाबरी विध्वंस की याद अयोध्या में रहने वाले अल्पसंख्यकों के जेहन में अभी भी ताजा है! मामले की संवेदनशीलता को देखते हुए कई अल्पसंख्यक परिवारों के अयोध्या छोड़ने और दूसरे शहरों में रिश्तेदारों के यहां शरण लेने की खबरें भी आ रहीं हैं! लिहाजा अल्पसंख्यक समाज इस धर्म सभा से निकलने वाले संदेश और इसके परिणाम को लेकर सशंकित हैं!

शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे पहले शनिवार को अयोध्या पहुंचे और साधु-संतों से मुलाकात की! शिवसैनिकों और साधु संतों को संबोधित करते हुए उद्धव ठाकरे ने कहा कि मुझे राम मंदिर निर्माण का श्रेय नहीं चाहिए! मुझे राम मंदिर निर्माण की तारीख चाहिए! हम सब मिलकर राम मंदिर का निर्माण करेंगे! सब साथ आएंगे, तो राम मंदिर जल्द बनेगा!

आपको बता दे कि आज होने वाली इस धर्म सभा में 3 लाख कार्यकर्ताओं के शामिल होने का दावा किया जा रहा हैं! इसके अलावा मंच पर 100-150 साधु-संत विराजमान होंगे और तकरीबन 50-60 लोगों का संबोधन होगा! मंच पर शामिल होने वालों में अहम संतों में जगतगुरु रामानंदाचार्य, स्वामी हंसदेवाचार्य, रामभद्राचार्य, रामेश्वर दास वैष्णव, राम जन्मभूमि न्यास के महंत नृत्य गोपाल दास का नाम शामिल है! बता दें कि इस धर्म सभा में किसी नेता के शामिल होने की अनुमति नहीं है!

एक सवाल 

क्या फिर से बाबरी विध्वंस  दोहराया जा सकता है? क्योकि आसार तो कुछ आइए ही है! जिस प्रकार राज ठाकरे एक दिन पहले आकर लोगो से बातचीत करते है आखिर इसका क्या मतलब है? क्या होगा आज?

और देखे – Society : हड़ताल-करप्शन : हर जगह बज रहा हमारा डंका!!!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here