लोकसभा चुनाव 2019: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की योजना चांद को धरती पर लाने जैसी

0
20
Rajiv kumar tweet

Rajiv kumar tweet: हेलो दोस्तों स्वागत है आपका हमारे वेब पोर्टल में! हाल ही में लोकसभा चुनाव होने वाले हैं! ऐसे में नेताओं के अलग-अलग भाषण सुनने को मिल रहे हैं! इसी दौरान कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष राहुल गांधी ने सन 1971 इंदिरा गांधी के समय का नारा दिया गरीबी हटाओ यानी हम गरीबी हटा देंगे! इसको देखते हुए उन्होंने गरीब लोगों को बात तो 72 हजार रुपए सालाना देने की बात कही है! कहा जाए तो 6000 रुपए प्रति महीने!

Rajiv kumar tweet –

इसी भाषण को देखते हुए नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार ने बीते सोमवार को कहा राहुल गांधी के किए गए वादे के अनुसार 5 करोड़ गरीब लोगों को न्यूनतम आय गारंटी के तहत वर्ष में 72000 रुपए दिए जाएंगे! जिसे लेकर राजीव कुमार ने कहा यह राजकोषीय अनुशासन को धरा शाही करने वाली स्कीम है! इस योजना के तहत जो लोग काम नहीं करते उन लोगों को प्रोत्साहित किया जाएगा! इतना ही नहीं बल्कि नीति आयोग के उपाध्यक्ष ने कहा यह कांग्रेस का पुराना दांवपेच है! सत्ता में आने के लिए कुछ भी कह सकती और कर सकती है!

नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार ने ट्विटर से ट्वीट किया कि कांग्रेस के पुराने वादों को देखा जाए तो सत्ता में आने के लिए चांद को धरती पर लाने जैसे वादे करती है! अभी हाल ही में राहुल गांधी जी ने जिस योजना की बात की है उससे तो साफ-साफ राजकोष को खत्म देना होगा! काम नहीं करने वालों को इस से पैसा मिलेगा और इससे प्रोत्साहित होंगे और यह कभी क्रियान्वित नहीं होगा!

आपकी जानकारी के लिए बता दे राहुल गांधी जी ने सोमवार को कहा कि देश के लगभग 20% गरीब को हर साल 72000 रुपए न्यूनतम आय गारंटी के तहत दिए जाएंगे! अगर हम लोग सत्ता में आए तो! इसी बात को ध्यान रखते हुए राजीव कुमार ने अपने अन्य ट्वीट में कहा न्यूनतम आय गारंटी योजना की लागत देश के सकल घरेलू उत्पाद का 2% है और देश के बजट का 13%! वास्तव में देखा जाए तो इससे लोगों की जरूरतें पूरी नहीं होगी!

आपकी जानकारी में बता दे राहुल गांधी के गरीबी हटाओ ना दे पर भी राजीव कुमार ने ट्वीट कर कहा सत्ता में आने के लिए 1971 के नारे का प्रयोग किया जा रहा है! 2008 में वन रैंक वन पेंशन का वादा किया और फिर 2013 में खाद्य सुरक्षा की बात की कांग्रेसी उसको भी पूरा नहीं कर पाई! इतना ही नहीं बल्कि गांधी जी के इस बयान के ऊपर प्रधानमंत्री मोदी के सलाहकार परिषद से भी ट्वीट किया गया जिसमें उन्होंने राहुल गांधी की चुनाव से पहले इस पूर्व योजना की आलोचना की है! लेकिन बाद में एक ट्विटर यूजर के द्वारा लगाई गई शिकायत के अनुसार की चुनाव के समय चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन हो रहा है! ट्वीट हटा दिया गया!

दरअसल से हटाने की वजह हुई क्योंकि ट्विटर पर लिखा था! कि आर्थिक वृद्धि, मुद्रास्फीति तथा राजकोषीय अनुशासन में सही संतुलन स्थापित करने को लेकर पिछले पांच साल में काफी कार्य किये गये हैं! प्रधानमंत्री सलाहकार परिषद के द्वारा लिखे गए ट्वीट में यह भी लिखा था कांग्रेस की आय गारंटी योजना इस संतुलन को बिगाड़ देगी या सरकार के महत्वपूर्ण खर्चों में कमी आएगी! दोनों विकल्प खतरनाक हैं!

आपकी जानकारी के लिए बता दें टि्वटर का इस्तेमाल करने वाले सुमेध भागवत ने जब प्रधानमंत्री सलाहकार परिषद कोई इस बात की जानकारी दी कि यह ट्विट आचार संहिता के उलंघन कर रहा है! तो इस ट्वीट को उसी समय ट्विटर से हटा दिया गया है! उसी समय परिषद के चेयरमैन देबरॉय ने ट्वीट कर जानकारी दी कि उसको हटा लिया है!

आपकी जानकारी के लिए बता दें 11 अप्रैल से चुनाव शुरू हो जाएंगे! जो कि 7 चरणों मैं चुनाव होने वाले हैं! और इसमें लगभग 90 करोड लोग वोट देने के पात्र हैं! तो जैसा कि चुनाव नजदीक है हर पार्टी अपने-अपने पक्ष भूत करने में लगी हुई है! हर कोई पार्टी वार पलटवार करते नजर आ रहा है!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here