इन खतरनाक महिला जासूसी जिनसे थर थर कांपती थी दुनिया

0
893
dangerous women espionage world rocking

dangerous women espionage world rocking : आपकी जानकारी के लिए बता दे की दुनिया के बड़े बड़े युद्ध जासूसों के बिना अधूरे होते है ! पहले सेनिको के भरोसे युद्ध लड़े जाते थे ! लेकिन जासूसों के भरोसे युद्ध जीते जाते है ! कभी कभी एक जासूस पूरी ही सेना पर भारी पड़ जाता है ! वो सूचनाएं यहाँ से वह करता है ! गुप्त हत्याएं करता है ! वो दुश्मनो के घर जाकर सेंध लगाकर उन्हें ख़तम कर देता है ! इस पेशे में महिलाओ का किरदार लोगो को बहुत आकर्षित करता है ! इसकी वजह यह है की उनकी संख्या का कम होना ! ज्यादातर पुरुष ही जासूसी कहानियो किस्सों में छाए रहते है !

dangerous women espionage world rocking :

आज के समय में अब तो ख़ुफ़िया तंत्र में माहिलाओ का होना आम बात हो गई है ! लेकिन एक समय था जब इस पेशे में लड़कियों की संख्या नाममात्र थी ! आज हम आपको 5 ऐसी जासूस महिलाओं के बारे में बताते हैं जिन्होंने अपना योगदान से युद्ध जितवाए और अभी तक की सबसे खतरनाक महिला जासूस मानी जाती है !

1. ब्रिगित मोअनहॉप्ट


आपकी जानकारी के लिए बता दे 70 के दर्शक में वेस्टर्न जर्मनी में एक कट्टरपंथी समूह ने आतंक फैला रखा था ! उस दौर में कई हाईजैक और अपहरण समेत हत्याओं की सिलसिलेवार घटनाओं में इस समूह का ही हाथ माना जाता है। पूंजीवाद को ख़तम करने के लिए हुई इन घटनाओ में एक महिला जासूस ने भी अपना योगदान दिया !

ब्रिगित मोअनहॉप्ट नाम की इस महिला को जर्मनी की सबसे खतरनाक महिला का तमगा मिल चुका था। 1982 में इन्हे चरमपंथी घटनाओ में शामिल होने की वजह से ब्रिगित को गिरफ्तार किया गया ! उन्होंने अपना जुल्म कभी कुबूल नहीं किया ! 2007 में वो परौल पर बहार आई और अभी भी ज़िंदा है !

2. माता हरी

आपकी जानकारी के लिए बता दे की पैसे के बदले जानकारी देते का काम खबरी करते है ! उन्हें जासूस की श्रेणी में नहीं रखा जा सकता ! तो अपने शुरूआती दिनों में माता हरी खबरी हुआ करती थी ! धीरे-धीरे वे कई तरह की गतिविधियों के जरिए जानकारियां निकालने लगीं!

पहले युद्ध के दौरान उनकी दी हुई जानकारियों के चलते फ़्रांस के कई सैनिको को मौत के घाट उतार दिया गया ! फरवरी 1917 में उन्हें पेरिस से गिरफ्तार किया गया!

3. शी जिआनकिआओ

Credit : duniadigest.com

आपको बता दे की जिआनकिआओ अपने पिता की मौत का बदला लेने के लिए जासूस बानी थी ! 1925 में चीन के नेता सुन चुआंगफांग ने उनके पिता की हत्या कर दी थी ! इस महिला जासूस ने अपना नाम शी जिआनकिआओ तब कर लिया जब उन्होंने इस खतरनाक पेशे में कदम रखा!

जानकारी के लिए बता दे की अपने पिता की हत्या के 10 साल बाद ही शी ने अपना बदला ले लिया ! उन्होंने चुआंगफांग के सिर में तब गोली मारी जब वो पूजा करने गए हुए थे ! वही खड़े होकर उन्होंने अपना गुनाह कुबूल कर लिया ! 1936 में इस केस में फैसला सुनाया गया और शी को बरी कर दिया गया।

4. एजेंट पेनेलोप

जिसके विश्व में सबसे खतरनाक माना जाता है ! 1972 के म्यूनिख ओलिंपिक के दौरान 11 इजरायली खिलाड़ियों को बंधक बनाकर उनकी हत्या कर दी गई थी !

आपकी जानकारी के लिए बता दे की मोसाद ने अली हसन समेत कई चरमपंथियों को ख़त्म करने के लिए ‘ऑपरेशन व्रैथ ऑफ गॉड’ चलाया। अली हसन जिस अपार्टमेंट में रहता था ! पेनेलोप नाम की इस जासूस ने 6 हफ्ते उसी अपार्टमेंट में बिताने के बाद अली हुसैन की हत्या कर दी !

5. शॉर्लेट कॉर्डी

आपको बता दे की मैरी एन शार्लेट डी कॉर्डी नाम की जासूसी फ़्रांस की क्रांति में बड़ा हिस्सा रही थी ! राजशाही लोगो को खत्म करने के लिए जो समूह आगे आया उसे गिरोडिन कहते थे ! बाद में इन्होनें अपने ही विपक्षी समूह जैकोबिन के नेता जीन पॉल मैराट की हत्या करवा दी थी!

कुछ दिनों बाद में इन्होने अपने ही विपक्षी समूह जैकोबिन के नेता जीन पॉल मेराट की हत्या करवा दी थी !

Credit : duniadigest.com

और देखें – टीम इंडिया के खिलाडी होते थे कभी बहुत गरीब आज है करोड़ो के मालिक

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here