अगर आप ट्रेन में सफर करते है , Indian railway की ट्रेन में कम्बलों का इस्तेमाल करने वाले जरूर पढ़ें…

0
134
indian railway

Indian railway: अगर आप ट्रेन में सफर करते है , Indian railway की ट्रेन में कम्बलों का इस्तेमाल करने वाले जरूर पढ़ें… इंडियन रेलवे (Indian railway) सेवा दुनिया की सबसे बड़ी सेवाओं में से एक है! ट्रैनों में सफ़र करने का अपना एक अलग ही आनंद होता है! मुश्किल से ही शायद ही कोई व्यक्ति ऐसा होगा! जिसे ट्रेन की यात्रा पसंद नहीं होगी! ट्रेन के सफ़र से ज्यादा मनमोहक और सस्ता होता कुछ भी नहीं है! अगर आपको लम्बी दुरी की यात्रा करनी है तो! लगभग आधा से ज्यादा आबादी देश में ट्रेन से ही सफ़र करती है!

Indian railway-

आप चलाते है ट्रेन में दिए गए कम्बलो से काम –

जाहिर है आपने भी ट्रेन का सफ़र किया होगा! लेकिन जब आपने Air Conditioner ट्रेन में सफ़र किया होगा! तो आपको यह अच्छे से मालूम होगा! कि A.C बोगी के यात्रियों को इंडियन रेलवे (Indian railway) की तरफ से रात में सोने के लिए चादरें और कम्बल दिए जाते हैं! A.C में कम्बल में सोने का मजा ही कुछ और होता है! लगभग सभी लोग रेलवे द्वारा प्रदान की जाने वाले कम्बलों से ही काम चलाते हैं! तो वहीँ कुछ लोग कम्बलों से बाकायदा मुंह ढंककर सोने का काम करते हैं! आपने भी यह कभी ना कभी किया होगा!

अब नहीं कर पाएंगे इनका इस्तेमाल –

हाल ही में इंडियन रेलवे (Indian railway) के कम्बलों की धुलाई को लेकर एक बहुत ही हैरान करने वाली खबर आई है! यक़ीनन इस खबर को जानने के बाद कोई भी AC बोगी में यात्रा करने वाला व्यक्ति रेल के कम्बलों का इस्तेमाल नहीं करेगा! जी हाँ आपको भले ही इस बात पर यकीन ना हो! लेकिन इस बात का खुलासा खुद इंडियन रेलवे (Indian railway) ने किया है! आपको बता दें हाल ही में इस बात का खुलासा असम के रेल राज्य मंत्री राजन गोहेन ने किया है!

एक बार होती है 2 महीनो में कम्बलों की धुलाई –

गोहेन ने बुधवार को कहा कि इंडियन रेलवे (Indian railway) इस बात को सुनिश्चित करती है! कि ट्रेनों में बिछाई जानें वाली चादरें इस्तेमाल होने के बाद हर बार धोयी जाएँ! और कम्बल हर दो महीने में कम से कम एक बार धोये जाएँ! जी हाँ आप सही सुन रहे हैं! कम्बलों की धुलाई हर दो महीने में एक बार की जाती है! लोकसभा (Loksabha) के एक लिखित प्रश्न के उत्तर में गोहेन ने कहा! कि चादरों को हर बार इस्तेमाल करने के बाद धोया जाता है! जबकि कम्बलों की धुलाई कम से कम दो महीने में एक बार की जाती है!

लोगों के स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ सकता है –

अब हमारे सामने सबसे बड़ा सवाल यह उठता है! कि आखिर क्यों कम्बलों की धुलाई हर 2 महीने में एक बार की जाती है! इंडियन रेलवे (Indian railway) के कम्बलों की दो महीने में एक बार धुलाई को लेकर सोशल मीडिया पर जमकर बवाल मचा हुआ है! एक तरफ लोगों का इंडियन रेलवे (Indian railway) की तरफ जमकर गुस्सा फुट रहा है! तो वहीँ लोगों ने इंडियन रेलवे के कम्बलों से तौबा करने की बात कही है! जैसा कि आप जानते हैं इंडियन रेलवे (Indian railway) के कम्बलों को ना जानें कितने लोग 2 महीने में ओढ़ते होंगे! ऐसे में ना जानें कितने ही Virus और संक्रमण फैलने का खतरा रहता है! इससे लोगों के स्वास्थ्य पर कैसा असर पड़ता होगा! इसके बारे में कुछ भी कहने की जरुरत नहीं है!

और देखें –

“तेरी लत लग जाएगी” पर नई नवेली दुल्हन ने किया superb डांस …super dance

आपके पास भी लैमिनेटेड या प्लास्टिक आधार कार्ड है तो रहें सावधान, सब काम छोड़कर पहले इसे पढ़ें…

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here