Home खास खबर Breaking : नहीं रहे हम सबके अटल बिहारी वाजपेयी, 93 वर्ष की...

Breaking : नहीं रहे हम सबके अटल बिहारी वाजपेयी, 93 वर्ष की उम्र में हुआ निधन

0
463
Prime Minister Atal Bihari Vajpayee Died

Prime Minister Atal Bihari Vajpayee Died: अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) में पिछले 9 हफ्ते से भर्ती पूर्व PM अटल बिहारी वाजपेयी का गुरुवार को निधन हो गया. PM नरेंद्र मोदी ने अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर गहरा शोक जताया. उन्‍होंने Twitter पर लिखा, मैं नि:शब्द हूं, शून्य में हूं, लेकिन भावनाओं का ज्वार उमड़ रहा है. हम सभी के श्रद्धेय अटल जी हमारे बीच नहीं रहे. अपने जीवन का प्रत्येक पल उन्होंने राष्ट्र को समर्पित कर दिया था. उनका जाना, एक युग का अंत है.

Prime Minister Atal Bihari Vajpayee Died-

इससे पहले PM मोदी AIIMS पहुंचे, जिसके बाद PM मोदी AIIMS से रवाना हो गए. वहीं, BJP अध्‍यक्ष अमित शाह के अलावा कई मंत्रियों और नेता एम्‍स में मौजूद हैं. स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री J.P नड्डा ने Media से बातचीत करते हुए कहा कि अटल जी की हालत गंभीर हैं और उनके स्‍वास्‍थ्‍य को ठीक करने के लिए Doctor पूरी ताकत से काम कर रहे हैं. अटल जी की हर तरह से देखभाल की जा रही है.

Atal ji no marriage princess

वहीं, AIIMS से कृष्‍णा मेनन मार्ग तक का रास्‍ता खाली करा दिया गया है. इससे पहले दोपहर करीब 3:45 PM बजे स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री J.P नड्डा ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि अटल जी की हालत गंभीर हैं और उनके स्‍वास्‍थ्‍य को ठीक करने के लिए Doctors पूरी ताकत से काम कर रहे हैं. अटल जी की हर तरह से देखभाल की जा रही है. CONG अध्‍यक्ष राहुल गांधी भी AIIMS में अटल बिहारी वाजपेयी का हालचाल जानने के लिए AIIMS पहुंचे.

वहीं, दोपहर करीब 11 बजे के बाद फारुक अब्‍दुल्‍ला, अरविंद केजरीवाल और मनीष सिसोदिया भी अटल बिहारी वाजपेयी का हालचाल जानने के लिए AIIMS पहुंचे थे. इससे पहले गुरुवार सुबह करीब 10:30 AM बजे अचानक AIIMS  के बाहर से भीड़ को हटा दिया गया था और मीडिया कर्मियों को AIIMS के अंदर आने के लिए कह दिया गया. AIIMS के बाहर से पुलिस की तरफ से गाडि़यों को हटा दिया गया. सबसे पहले अटल जी के स्‍वास्‍थ्‍य की जानकारी PMO कार्यालय को दी गई. उधर, BJP ने अपने आज के सभी Program रद्द कर दिए हैं. वहीं, कृष्‍णा मेनन मार्ग स्थित वाजपेयी के आवास पर उनका परिवार और रिश्‍तेदार मौजूद हैं. Delhi Police के आला अफसर उनके घर पहुंचे हैं. यहां भी सुरक्षा कड़ी रखी गई है.

अटल बिहारी वाजपेयी की तबियत बुधवार को ज्‍यादा बिगड़ गई थी. AIIMS की तरफ से बुधवार रात को जारी Medical बुलेटिन में बताया गया था कि पिछले 24 घंटों में पूर्व PM की तबियत ज्‍यादा बिगड़ गई थी और उन्‍हें Life Support  System पर रखा गया था. उनकी Urine इंफेक्‍शन और सांस लेने में तकलीफ की समस्‍या बढ़ गई थी. अटल बिहारी वाजपेयी के बेहद खराब स्‍वास्‍थ्‍य के चलते AIIMS में सुबह से ही अमित शाह, राजनाथ सिंह समेत JP नड्डा, प्रकाश जावड़ेकर, विजय गोयल और अन्‍य कई बड़े नेता AIIMS में मौजूद रहे.

सुबह करीब 8.50 बजे BJP अध्‍यक्ष अमित शाह वाजपेयी का हालचाल जानने के लिए एम्‍स पहुंचे थे. उनसे पहले गुरुवार सुबह उप राष्‍ट्रपति वेंकैया नायडू AIIMS पहुंचे और उन्‍होंने पूर्व PM का हालचाल जाना. PM नरेंद्र मोदी थोड़ी देर में AIIMS पहुंचने वाले हैं. बताया जा रहा है कि CONG अध्‍यक्ष राहुल गांधी, दिल्‍ली के CM और आम आदमी पार्टी के मुखिया अरविंद केजरीवाल और पश्चिम बंगाल की CM एवं तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी भी वाजपेयी का हालचाल जानने के लिए AIIMS पहुंचने वाले हैं. वहीं, AIIMS की तरफ से जल्‍द ही मेडिकल बुलेटिन जारी किया जा सकता है.

इससे पहले बुधवार रात को ही पूर्व PM की तबियत ज्‍यादा बिगड़ने की खबर मिलने के बाद PM नरेंद्र मोदी एवं अन्‍य केंद्रीय मंत्री और नेता उनका हालचाल जानने के लिए AIIMS पहुंचे. उनके अलावा AIIMS के बाहर वाजपेयी के समर्थकों का जमावड़ा लगा हुआ है. लिहाजा Hospital के भीतर और बाहर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं.

दरअसल, गुर्दा नली में संक्रमण, छाती में जकड़न, मूत्रनली में संक्रमण की शिकायत के बाद अटल बिहारी वाजपेयी को बीते 11 जून को AIIMS में भर्ती कराया गया था. 93 वर्षीय वाजपेयी Sugar के शिकार हैं और उनका एक ही गुर्दा काम करता है.

AIIMS के निदेशक Dr. रणदीप गुलेरिया ने बुधवार को PM नरेंद्र मोदी को वाजपेयी के स्वास्थ्य की जानकारी दी थी. Dr. गुलेरिया के नेतृत्व में Senior डॉक्टरों की एक टीम उनके स्वास्थ्य की देखरेख कर रही है. Dr. गुलेरिया पिछले 30 वर्षों से वाजपेयी के Health की देखभाल कर रहे हैं. वाजपेयी काफी समय से बीमार चल रहे हैं.

वह New Delhi में 6-A कृष्णामेनन मार्ग स्थित सरकारी आवास में रहते हैं. उन्होंने उठने-बैठने और बोलने में परेशानी होती है. कुछ समय से तो उन्हें लोगों को पहचानने में भी दिक्कत हो रही है. उनके निवास पर ही AIIMS के Doctors की Team उनकी देखरेख के लिए तैनात थी. बता दें कि जून, 2001 में वाजपेयी के घुटनों का Operation हुआ था उसके बाद उनका स्वास्थ लगातार गिरने लगा था.

और देखें – Video : स्कुल में मुस्लिम टीचर ने राष्ट्रगान गाने पर दर्ज कराई आपत्ति, राष्ट्रगान गाने से इंकार

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here