भारतीय सेना, नौसेना और वायुसे - salute Indian Army Navy Air Force different
ज्ञान

भारतीय सेना, नौसेना और वायुसेना का सलाम अलग क्यों है ? क्या आप जानते हैं !!

salute Indian Army Navy Air Force different

salute Indian Army Navy Air Force different: भारतीय सेनिको के बीच सलामी एक सम्मान और विश्वाश का संकेत है !दिलचस्पत बात तो ये है की सेना के विभिन शहाखाओ में सलामी अलग अलग होती है ! भारत की थलसेना, वायुसेना,और नोसेना में अलग अलग सलामी होती है ! और उनमे से हर एक का अलग अर्थ होता है !

आप इन तीनों सेनाओं के सलामी के बारे में जान कर हैरान रह जाएगें.

salute Indian Army Navy Air Force different:

भारतीय सेना –

खुली हथेली से सामने की तरफ सामना करती है! भारतीय सेना में सलामी हथियार के साथ एक खुली हथेली इशारे से दिया जाता है सलामी देने के व्यक्त सभी उंगलियां और अंगूठे टोपी की सजावटी पट्टी ओर भौंह को स्पर्श करता है.यह न केवल सनीकों के बीच विश्वास स्थापित करता है! बल्कि यह भी साबित होता है की व्यक्ति को सलामी देने के वयक्त मन में कोई बुरा इरादा नहीं है और कही कोई हथियार भी छिपा हुआ नहीं है !

भारतीय नौसेना –

खुली हथेलियों से जमीन की तरफ सामना करती है! भारतीय नौसेना हमेशा जहाज पर काम करने कि वज़ह से तेल या तेल दाग के कारण हाथ गंदे हो जाते हैं ऐसे में हाथों को छिपाने के लिए खुली हथेलीयों से जमीन की तरफ सलामी देतें है.

भारतीय वायु सेना –

खुली हथेली से 45 डिग्री के कोण कर जमीन की तरफ सामना करती है! मार्च 2006 में भारतीय वायु सेना अपने कर्मियों को सलामी के लिए नए मानदंडों को जारी किए हैं! इस नै सलामी में हथेली को भूमि की तरफ 45 डिग्री के कोड बनाकर देने की मानदंडों में शामिल किया गया है आपको बता दें इससे पहले, भारतीय वायुसेना के सलामी सेना के एक तरह था.

और देखे :14 साल की लड़की ने दी जान सुसाइड नोट पढ़कर रो देंगे आप

Click to comment

Leave a Reply

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

To Top
// Infinite Scroll $('.infinite-content').infinitescroll({ navSelector: ".nav-links", nextSelector: ".nav-links a:first", itemSelector: ".infinite-post", loading: { msgText: "Loading more posts...", finishedMsg: "Sorry, no more posts" }, errorCallback: function(){ $(".inf-more-but").css("display", "none") } }); $(window).unbind('.infscr'); $(".inf-more-but").click(function(){ $('.infinite-content').infinitescroll('retrieve'); return false; }); $(window).load(function(){ if ($('.nav-links a').length) { $('.inf-more-but').css('display','inline-block'); } else { $('.inf-more-but').css('display','none'); } }); $(window).load(function() { // The slider being synced must be initialized first $('.post-gallery-bot').flexslider({ animation: "slide", controlNav: false, animationLoop: true, slideshow: false, itemWidth: 80, itemMargin: 10, asNavFor: '.post-gallery-top' }); $('.post-gallery-top').flexslider({ animation: "fade", controlNav: false, animationLoop: true, slideshow: false, prevText: "<", nextText: ">", sync: ".post-gallery-bot" }); }); });