ज्ञान

क्या आप जानते हैं की टेस्ट मैच में ही क्यों पहनते हैं शर्ट, यह है उसके पीछे की हैरान कर देने वाली वजह !

white shirt mystery test match

White Shirt Mystery Test Match: क्या आप जानते हैं की टेस्ट मैच में ही क्यों पहनते हैं शर्ट, यह है उसके पीछे की हैरान कर देने वाली वजह ! हम आप से एक बात पूछे कि जो जो अपने खिलाडी हैं! ये सब सफ़ेद कपड़े क्यों पहनते हैं!

white shirt mystery test match –

अगर कोई आपसे भी इस बारे पूछे तो एक बार के लिए ही सही परन्तु आप भी सोच में पड़ जाते होंगे! कि क्रिकेटर टेस्ट मैच में सफेद टी शर्ट ही क्यों पहनते हैं! आखिर ऐसा किसलिए है!

क्या है इसके पीछे का कारण

फिर सवाल उठता है कि जब काम सफेद से चल रहा था तो फिर रंगीन ड्रेस कब आई! यह मामला कब शुरू हुआ! तो आइए इन सवालो के जवाब देते है और जानिए कब कैसे और क्यों हुआ! ये बातें निश्चित रूप से आपको भी रोमांचित करेंगी!

आखिर क्रिकेट कब से खेला जा रहा है! इसकी ड्रेस को लेकर क्या नियम थे! और ये लाल, सफेद गेंद का क्या मामला है! ऐसे ही कुछ सवाल हैं जो हर क्रिकेट प्रेमियों के दिल और दिमाग में कभी-कभी उठ जाते हैं! आज जवाब भी पता कर लेते हैं!

जानते है इसके जवाब के बारे में

माना जाता है कि टेस्ट मैच में सफेद रंग की टी-शर्ट पहनने को लेकर ऐसा कोई नियम लिखित में नहीं है! मगर हां, इसके पीछे कुछ परंपराएं हैं! और वो ये है! एक वेबसाइट जिसका नाम कोरा है उस ने इस मामले पर कुछ बातें बताई है! इससे पता चलता है कि आखिर सफेद टी शर्ट ही क्यों इस्तेमाल की जाती है!

क्या है कि दक्षिण-पूर्व इंग्लैंड में 16वीं शताब्दी से क्रिकेट खेला जाने लगा था! और 18वीं शताब्दी में तो क्रिकेट ही इस देश का राष्ट्रीय खेल बना! उस समय जो सबसे आसानी से उपलब्ध होने वाला रंग था वो था सफ़ेद! और उसे ही खेल के लिए चुन लिया गया!

बना दिया गया नियम

हम आपको बता दे कि सफेद रंग पवित्रता का पर्याय है! अगर 18वीं शताब्दी में ब्रिटेन की बात की जाए! तो वहां क्रिकेट उच्च वर्ग यानी जो कि बड़ी कास्ट से संभंध रखता था! उस के द्वारा खेला जाता था!

इसी परंपरा को आगे भी बनाए रखा गया! जोकि क्रिकेट की पवित्रता और स्टैंडर्ड को निश्चित करता है! इसलिए 19वीं शताब्दी के मध्य में सफ़ेद रंग टेस्ट मैच के लिए अधिकृत यूनिफॉर्म बन गई!

और देखें – आखिर क्यों मरने के बाद जला दी जाती है लाश, जाने इसके पीछे की यह हैरान कर देने वाली वजह !

Click to comment

Leave a Reply

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

To Top
// Infinite Scroll $('.infinite-content').infinitescroll({ navSelector: ".nav-links", nextSelector: ".nav-links a:first", itemSelector: ".infinite-post", loading: { msgText: "Loading more posts...", finishedMsg: "Sorry, no more posts" }, errorCallback: function(){ $(".inf-more-but").css("display", "none") } }); $(window).unbind('.infscr'); $(".inf-more-but").click(function(){ $('.infinite-content').infinitescroll('retrieve'); return false; }); $(window).load(function(){ if ($('.nav-links a').length) { $('.inf-more-but').css('display','inline-block'); } else { $('.inf-more-but').css('display','none'); } }); $(window).load(function() { // The slider being synced must be initialized first $('.post-gallery-bot').flexslider({ animation: "slide", controlNav: false, animationLoop: true, slideshow: false, itemWidth: 80, itemMargin: 10, asNavFor: '.post-gallery-top' }); $('.post-gallery-top').flexslider({ animation: "fade", controlNav: false, animationLoop: true, slideshow: false, prevText: "<", nextText: ">", sync: ".post-gallery-bot" }); }); });